Home » यूरोपीय कम्पनी

यूरोपीय कम्पनी

यूरोपीय कम्पनीयों का भारत में आगमन

जहाँगीर के शासन काल में तीन यूरोपी यात्री – विलियम हाकिंस ,विलियम फिंच ,सर टामस रो ने व्यापर करने की दृष्टि से प्रवेश किया और व्यापर की अनुमति मिलने के बाद इन अंग्रेजो ने भारत में अपना व्यापर स्थापित किया और इसके बाद इन्होने सबसे पहले बंगाल को जीतने का प्रयास किया |

प्लासी का युद्ध 
अंग्रेजो ने बंगाल को लुटने की द्रष्टि से 23 जून 1757 को अंग्रेज सेनापति राबर्ट क्लाइफ़ के नेतृत्व में प्लासी का युद्ध लड़ा और इस युद्ध में अंग्रजो ने बंगाल के नवाब सिराजुद्दोला को पराजित करके लगभग बंगाल पर कब्ज़ा कर लिया |
बक्सर का युद्ध 
इसके बाद 23 अक्टूबर 1764 ईस्वी अंग्रजो ने अपने सेनापति हेक्टर मुनरो के नेतृत्व में बक्सर का युद्ध लड़ा और इस युद्ध में अंग्रजो ने यहाँ के नवाब मीरकासिम को पराजित करके पुरे बंगाल राज्य पर कब्ज़ा कर लिया |
अंग्रेजो का पुरे भारत पर कब्ज़ा 
बंगाल जीतने के बाद अंग्रजो ने मैसूर के सुल्तान हैदरअली और उसके पुत्र टीपू सुल्तान को युद्ध में पराजित करके पुरे मैसूर राज्य में कब्ज़ा कर लिया और इसके बाद 1797 ईस्वी में इन अंग्रजो ने मुगलवंश के शाहआलम को पराजित करके दिल्ली पर कब्ज़ा जमा लिया और बाकि बचे राज्यों पर इन अंग्रजो ने फुट डालो और शासन करो निती के तहत ब्रिटिश साम्राज्य में मिला लिया |
व्यापारिक कोठिया
अंग्रजो ने पश्चिम भारत में सूरत दक्षिण भारत में आँध्रप्रदेश पूर्वी भारत में कोलकाता ,और उत्तरी भारत में दिल्ली में अपनी व्यापारिक कोठिया स्थापित की थी |
17 मई 1498 ई में वास्कोडिगामा ने भारत के पश्चिम तात पर स्थित कालीकट बंदरगाह पहुचकर भारत एवं यूरोप के बिच एक समुद्री मार्ग की खोज की और पुर्तगालियो ने अपनी पहली व्यापारिक कोठी कोचीन में लगाईं थी | फ्रांसीसियो ने अपनी पहली व्यापारिक कोठी सूरत में 1668 ई में लगाईं थी |1674 ई में फ्रांसिस मार्टिन ने पोडिचेरी की स्थापना की थी |
भारत पहुचने वाला पहला अंग्रेज – विलियम हाकिन्स था
पहला पुर्तगाली – वास्कोडिगामा
पहला फ़्रांसिसी – गवर्नर डुप्ले
पहला डच नागरिक – कर्नेलिस हडस्त्मान
भारत में अंग्रजो द्वारा निर्मित पहला बैंक – बैंक ऑफ हिंदुस्तान था जिसकी स्थापना 1770 ईस्वी में कोलकाता में एलेक्जेंडर कंपनी के द्वारा की गयी थी |
नोट : 1761 – पानीपत तृतीय युद्ध – मराठो vs. अहमदशाह अब्दाली
error: Content is protected !!