Home » Biology (जीव विज्ञानं ) » Biology : Cell Structure | Cell Structure and Function | कोशिका विज्ञानं

Biology : Cell Structure | Cell Structure and Function | कोशिका विज्ञानं

(Cell Structure) कोशिका विज्ञान

संसार मे सभी जीव छोटे से अमीबा से लेकर बड़ा हाथी तक छोटी-छोटी कोशिकाओ से मिलकर ही बनते हे | कोशिका की खोज एक अंग्रेज़ राबर्ट हुक ने की थी |
पादप ओर जन्तु कोशिका मे अंतर –(Cell Structure)
  • पोधों मे विकसित त्रिस्तरीय कोशिका भित्ति पायी जाती हे |
  • कुछ पोधों को छोड़कर बाकी सभी पोधों मे पर्णहरित पाया जाता हे |
  • वनस्पति कोशिका मे सेंटरोसोम नहीं पाया जाता हे |
  • पोधों मे प्रायः लाइसोसोम नहीं पाया जाता हे |
  • पादप कोशिका मे रसधानी या रक्तिका पायी जाती हे |
  • अधिकांश पादपो की कोशिकाओ मे तारक केंद्र नहीं होते हे |
जन्तु कोशिका –
  • जन्तु कोशिका मे कोशिका भित्ति नहीं पायी जाती हे बल्कि कोशिका द्रव्य झिल्ली से ढकी होती हे|
  • पर्णहरित नहीं पाया जाता हे |
  • जन्तु कोशिका मे केंद्रक के पास तारकार सेंटरोसोंम रचना होती हे | जो कोशिका विभाजन मे कार्य करती हे |
  • लाइसोसोम जन्तु कोशिका मे मिलती हे |
  • इसमे रिक्तिका नहीं मिलती हे |
  • इसमे तारक केंद्र होते हे |
कोशिका दो प्रकार की होती हे |
1 ) प्रोकेरियोटिक
2 ) यूकेरियोटिक

कोशिका के मुख्य भाग 

(Cell Structure)

 

कोशिका भित्ति – जीवद्रव्य कला तथा कोशिका द्रव्यों की सुरक्षा के लिए अजीवित पदार्थो की कोशिका भित्ति बनी होती हे |जन्तु कोशिका मे यह अनुपस्थित होती हे |
जीवद्रव्य कला – जीवद्रव्य का मुख्य कार्य विसरण या जल की परासरण क्रिया पर नियंत्रण करना हे |
माइट्रो कांड्रिया-  इसमे बहुत से श्वसनीय एंजाइम रहते हे ,जिनकी सहायता से ATP बनते हे |
अंतः द्रव्यी जाल – प्रोटीन संश्लेषण करने वाले राइबोसोम इसी पर जमे रहते हे |
लाइसोसोम – इसे कोशिका की आत्महत्या की थेली कहते हे |
गोल्ज़िकाय – इसे डिक्टियोसोम भी कहते हे और इसका मुख्य कार्य कोशिका भित्ति ओर कोशिका प्लेट का निर्माण करना हे |
केंद्रक – केंद्रक कोशिका का मुख्य भाग होता हे केंद्रक मे DNA ओर RNA के गुणसूत्र पाये जाते हे |
DNA –
वाटसन एवं क्रीक ने DNA डबल हेलिक्स माडल बनाया ओर इस कम के लिए उन्हे नोबल पुरुष्कार दिया गया | DNA सभी अनुवांशित क्रियाओ को संचालित करता हे | यह प्रोटीन संश्लेषण को नियंत्रित करता हे |
RNA –
यह एक न्यूक्लिक अम्ल हे जिसमे राइबोज शर्करा पायी जाती हे ,नाइट्रोजन मे थायमीन के स्थान पर यूरेसिल होता हे |
ये तीन प्रकार के होते हे – r-RNA , m-RNA , t-RNA .

Maths Course

Click and Pay

Recent Posts

error: Content is protected !!